स्वस्थ आदतें अपनाएं मॉनसून में बीमारियों से खुद को बचाएं

Total Views : 204
Zoom In Zoom Out Read Later Print

बेंगलूरु, (परिवर्तन)।

  रिमझिम फुहारों का दौर शुरू हो गया है लेकिन हल्की गर्मी का तेवर अभी कम नहीं हुआ है। सभी ऋतुओं का अपना ही मज़ा है पर हर कोई व्यक्ति एक ऋतु का जोर-शोर से इंतज़ार करते हैं और वो है वर्षा ऋतु। वर्षा ऋतु की इसकी खुस्द की खासियत है। कड़कती धूप के महीनों के बाद हर कोई व्यक्ति कुछ ठंडक के इंतज़ार में रहते हैं और बारिश का महीना इसकी कमी पूरी करता है। बारिश का महीना जितना खुशी और ठंडक ले कर आता है उतना ही लोगों का स्वस्थ ख़राब भी होता है। बारिश के महीने में ज्यादा नमी के कारण डेंगू, मलेरिया, बैक्टीरियल और वायरल बिमारियों के फैलने का सबसे बड़ा डर रहता है। लेकिन कुछ ऐसी बातें हैं जिनको ध्यान रखने से आप इस बारिश के महीने में इन बिमारियों से दूर, स्वस्थ रह सकते हैं।

बारिश के मौसम मे बीमारियों से बचें

गर्मी व बारिश का यह मिला-जुला मौसम सेहत के लिहाज से बहुत ही संवेदनशील मौसम है। बार-बार प्यास लगने पर व्यक्ति जहां कुछ भी ठंडा पी लेता है, वहीं इस मौसम में खाद्य पदार्थों को भी खराब होते समय नहीं लगता। फूड पॉइजनिंग का खतरा हमेशा बना रहता है। ऐसे में अपनी सेहत के प्रति पूरी सावधानी रखनी चाहिए। फूड पॉइजनिंग का सबसे बड़ा लक्षण यह है कि अगर "खाना खाने के एक घंटे से 6 घंटे के बीच उल्टियां "शुरु हो जाती हैं, तो मान लेना चाहिए कि व्यक्ति को फूड पॉइजनिंग की शिकायत है। इसे तुरंत काबू में करने के लिए डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए। यह मुख्यतः "बैक्टीरिया युक्त" भोजन करने से होता है। इससे बचाव के लिए कोशिश यही होना चाहिए कि घर में साफ-सफाई से बना हुआ ताजा भोजन ही किया जाए। अगर बाहर का खाना खा रहे हैं तो ध्यान रखें कि खुले में रखे हुए खाद्य पदार्थों तथा एकदम ठंडे और असुरक्षित भोजन का सेवन न करें।  इन दिनों ब्रेड, पाव आदि में जल्दी फंफूद लग जाती है इसलिए इन्हें खरीदते समय या खाते समय इनकी निर्माण तिथि को जरूर देख लें। घर के किचन में भी साफ-सफाई रखें। गंदे बर्तनों का उपयोग न करें। कम एसिड वाला भोजन करें।

बारिश में कैसे रहें स्वस्थ

बारिश के मौसम से हर किसी को अच्छा लगता है क्योंकि मॉनसून की बौछारों का मजा ही अलग होता है, इस मौसम में चाय-पकौड़े खाना, भीगना और घूमना हर किसी को पसंद होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मॉनसून विभिन्न बीमारियों, संक्रमण, मौसमी सर्दी और फ्लू का भी मौसम है और मॉनसून में बेपरवाही के कारण बीमारियां भी जल्द घर बनाने लगती है | इसलिए बारिश में रखिये खास ख्याल और न करे ये गलतियां : 

कम पानी पीना - अक्सर लोग इस गीले मौसम में पानी बहुत कम पीते हैं लेकिन मॉनसून में पानी से बचने से आप डिहाइड्रेट हो सकते हैं और डिहाइड्रेशन अनियमित ब्लड प्रेशर स्तर, शरीर में एनर्जी और ब्लड सर्कुलेशन का कारण बन सकता है। इसलिए बारिश के मौसम में भी पानी खूब पिएं।

न खाएं हरी सब्जियां - पत्तेदार सब्जियों को मॉनसून में खाने से बचना चाहिये। क्योंकि मॉनसून के दौरान हरी पत्तेदार सब्जियों में कीड़े अपना घर बना लेते हैं। पत्तागोभी, फूलगोभी और ब्रॉकली जैसी हरी सब्जियों में कीडे़-मकौडे़ इस तरह अंदर तक घुसे रहते हैं कि दिखाई भी नहीं देते। इसलिए अगर आप इन सब्जियों को खाना भी है तो पकाने से पहले नमक वाले गर्म पानी में डाल कर इन्हें उबाल लें और फिर पकाएं।

एक्‍सरसाइज न करना - खराब मौसम के कारण अक्सर लोग एक्सरसाइज करने के लिए बाहर नहीं निकलते यानी बारिश में लोग एक्सरसाइज से बचने लगते हैं। लेकिन एक्सरसाइज न करना अच्छी बात नहीं हैं क्योंकि यह शरीर को स्वस्थ और सक्रिय रखने में मदद करती है। बारिश के मौसम में बहुत अधिक भारी व्यायाम जैसे दौडऩा, साइकिलिंग आदि न करें। इसके कारण पित्त बढ़ता है। योग, वॉकिंग, स्विमिंग और स्ट्रेचिंग आदि एक्सरसाइज अच्छी रहती हैं।

स्ट्रीट फूड ना खाएं - इसमें कोई संदेह नहीं की बारिश में समोसा, पकौड़े, चाट जैसी चीजें बहुत पसंद आती है, लेकिन इस मौसम के दौरान स्ट्रीट फूड से पूरी तरह से बचना चाहिए। स्ट्रीट फूड में कीटाणु पैदा होने की आशंका बहुत बढ़ जाती है।


दादी के नुस्खें


मॉनसून में बनायें इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत

बारिश की बूंदों से गर्मी से तो राहत मिलती है, परन्तु मॉनसून कई परेशानियां भी साथ लेकर आता है। गर्मी में दूषित पानी की वजह से जहां डायरिया और पेट संबंधी अन्य गड़बड़ियां होती हैं। साथ ही बरसात में भरता पानी, घरों में पहुंचने वाला दूषित पानी और मच्छरों का तेजी से बढ़ना सेहत से जुड़ी नई परेशानियां खड़ी कर देता है। त्वचा संबंधी कई रोग भी इस मौसम में परेशान करते हैं। इन सब परेशानियों से बचने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यून सिस्टम का मजबूत होना जरूरी है। इसके लिए अपनाये ये उपाय – भोजन के साथ सलाद का उपयोग अधिक से अधिक करें। सलाद का सेवन पाचन क्रिया को दुरुस्त बनाये रखने में मदद करता है। ककड़ी, टमाटर, मूली, गाजर, प्याज, चुकंदर आदि को भोजन में शामिल करे |

इम्यूनिटी को मजबूत बनाने और हेल्दी रहने के लिए सादे पानी की बजाय तुलसी के पत्ते को उबालकर पिएं। तुलसी के पत्तों में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है। पानी और हर्बल चाय का सेवन इम्यून सिस्टम और चयापचय प्रक्रिया को सपोर्ट करता है। इससे शरीर में नमी आ जाती है। मॉनसून के दौरान अपनी इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए सब्जियों का सूप जरूर पीना चाहिए।



See More

Latest Photos