राहुल गांधी ने लॉकडाउन के फैसले पर उठाया सवाल

Total Views : 550
Zoom In Zoom Out Read Later Print

नई दिल्ली, (परिवर्तन)। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोरोना वायरस को लेकर देशभर में जारी लॉकडाउन पर सवाल उठाते हुए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री को पत्र लिखकर परेशान लोगों की बुनियादी जरूरतें पूरी करने तथा उन्हें चिकित्सा सुविधा देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि सरकार का लॉकडाउन का फैसला देश के गरीब व कमजोर वर्ग के लोगों को तबाह कर देगा।

केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को शुक्रवार को लिखे पत्र में राहुल गांधी ने कहा कि भारत के विभिन्न हिस्सों में छात्रावासों में रह रहे छात्रों को भोजन और सुरक्षा उपकरण नहीं मिल पा रहे हैं। सरकार को चाहिए कि वो ऐसे छात्रों की मदद के लिए आगे आए और उनके आवासीय व्यवस्था के साथ भोजन व चिकित्सा जैसे बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति करे। लगातार बढ़ रही लोगों की समस्याओं को देखते हुए राहुल गांधी ने केंद्र के लॉकडाउन के फैसले पर भी सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि सरकार ने बिना किसी तैयारी के इस प्रकार का बड़ा फैसला किया। उन्होंने कहा कि सरकार के पास इस महामारी को लेकर कोई रोडमैप नहीं है। बिना किसी प्लान के फैसला लेने का ही नतीजा है कि आम जनता इस तरह से परेशान हो रही है।

कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर कहा, 'लॉकडाउन हमारे गरीब और कमजोर लोगों को तबाह कर देगा। यह भारत के लिए एक बहुत बड़ा झटका होगा। भारत ब्लैक एंड व्हाइट नहीं है। हमें हमारे फैसलों पर गौर करना होगा। इस संकट से निपटने के लिए एक अधिक सूक्ष्म और दयालु दृष्टिकोण अपनाने की आवश्यकता है। अब भी बहुत देर नहीं हुई है।'

See More

Latest Photos