प्यार और समर्पण को दर्शाता ताज महल

Total Views : 1,380
Zoom In Zoom Out Read Later Print

बेंगलूरु, (परिवर्तन)।अगर हम प्यार की बात करें और हमने ताज महल का नाम न लिया तो क्या किया।

ताज महल को केवल देश भर में ही नहीं बल्कि विश्व भर में प्यार के सर्वश्रेष्ठ उदाहरणों में से एक कहा जाता है। उत्तर प्रदेश के आगरा में स्थित आज भी सच्चे प्रेमियों के लिए एक पवित्र स्थल जैसा है। आज भी कई युवक व युवतियां यहां आकर अपने प्यार का इज़हार करते हैं। कहते हैं मुगल बादशाह की मुहब्बत और शिद्दत का परिणाम ही है, 'ताजमहल' जिसे खूबसूरती का नायाब हीरा भी कहा जाता है। गुंबदनुमा इस इमारत को जब आप सिर उठाकर ऊपर देखते हैं तो इसकी नक्काशीदार छतें और दीवारें किसी आश्चर्य से कम नहीं लगतीं। सफेद संगमरमर से बने ताजमहल को मुगल सम्राट शाहजहाँ ने 1631 और 1648 के बीच अपनी प्यारी पत्नी मुमताज महल के लिए एक मकबरे के रूप में बनवाया था। यमुना नदी के किनारे सफेद पत्थरों से निर्मित अलौकिक सुंदरता की तस्वीर 'ताजमहल' न केवल भारत में, बल्कि पूरे विश्व में अपनी पहचान बना चुका है। प्यार की इस निशानी को देखने के लिए दूर देशों से हजारों सैलानी यहां आते हैं। दूधिया चांदनी में नहा रहे ताजमहल की खूबसूरती को निहारने के बाद आप कितनी भी उपमाएं दें, वह सारी फीकी लगती हैं। 

यात्रा से संबंधी जरूरी जानकारी

आमतौर पर ताजमहल रोजाना सुबह 6 बजे से शाम 7 बजे तक खुला रहता है, लेकिन शुक्रवार को इसे नमाज के लिए बंद रखा जाता है। पूर्णमासी के दिन ताजमहल के गेट्स रात 8:30 बजे से 12:30 बजे तक खुले रहते हैं। चांद की रोशनी में ताजमहल बेहद खूबसूरत लगता है। 

अगर आप भारतीय हैं तो आपको ताजमहल देखने के लिए 50 रुपये की टिकट खरीदनी पड़ेगी। 15 साल से कम के बच्चों के लिए एंट्री फ्री है। विदेशी पर्यटकों के लिए टिकट का दाम 1100 रुपये है। आप इन टिकटों को एक दिन अडवांस में सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे के बीच आर्केलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के ऑफिस से ले सकते हैं।

सुरक्षा कारणों से कुछ ऐसी चीजे हैं जिनके साथ आप ताजमहल के अंदर नहीं जा सकते। ट्राईपॉड, मोबाइल फोन चार्जर, खाने-पीने की वस्तुएं और तंबाकू जैसी चीजें पूरी तरह से यहां बैन है। हालांकि यहां एक लॉकर रूम है जहां आप अपने सामान को सुरक्षित तरीके से जमा कर सकते हैं और वापस लौटने पर यहां से अपने सामान को ले सकते हैं।

अगर मुमकिन हो तो ठंड के मौसम में ताजमहल घूमने का प्लान न बनाएं क्योंकि कोहरे के कारण इसकी खूबसूरती खिल के बाहर नहीं आती। ताजमहल घूमने का बेस्ट सीजन होता है फरवरी से जून। अगर आप ताजमहल घूमने का प्लान बना रहे हैं तो बस ऊपर बताई गई इन टिप्स का ध्यान रखें और अपनी ताज यात्रा को यादगार बनाएं।

See More

Latest Photos