कोरोना वायरस अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य आपातकाल घोषित

Total Views : 116
Zoom In Zoom Out Read Later Print

जेनेवा, (परिवर्तन)। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चीन के कोरोना वायरस को अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया है। डब्ल्यूएचओ की अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य नियमन आपात समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया। कोराना वायरस चीन के अलावा 21 देशों में पहुंच चुका है। चीन में इससे 212 लोगों की जान जा चुकी है।

संयुक्त राष्ट्र महानिदेशक (स्वास्थ्य) डॉ. टेडरस एडहेनम ने ट्वीट किया है-'मैं कोरोना वायरस को अंतरराष्ट्रीय चिंता मानते हुए इसे सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित करता हूं। मैं इसे चीन में जो हो रहा है उसके कारण नहीं बल्कि अन्य देशों में जो हो रहा है उसके कारण इसकी घोषणा करता हूं।' उल्लेखनीय है कि चीन समेत विश्व में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है और अब तक इसके 7818 मामलों की पुष्टि  हुई है। 7736 मामले अकेले चीन के हैं, जहां से इस वायरस का प्रसार हुआ है। डब्ल्यूएचओ की गुरुवार की रिपोर्ट के अनुसार चीन में इस वायरस से 7736 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हो गई है। इसके अलावा इस देश में 12,167 लोगों के इस वायरस से संक्रमित होने का संदेह भी है। चीन में इस वायरस से अबतक 212 लोगों की मौत हो चुकी है। रिपोर्ट के मुताबिक चीन से बाहर 18 देशों में कोरोना वायरस के 82 मामलों की पुष्टि हुई है। थाईलैंड में 14, जापान में 11, सिंगापुर में 10, दक्षिण कोरिया में चार, ऑस्ट्रेलिया और मलेशिया में सात-सात, अमेरिका और फ्रांस में पांच-पांच , जर्मनी और संयुक्त अरब अमीरात में चार-चार और कनाडा में कोरोना वायरस के तीन मामलों की पुष्टि हुई है। इसके अलावा वियतनाम में दो, कंबोडिया, फिलिपींस, नेपाल, श्रीलंका, भारत और फिनलैंड में एक-एक कोरोना वायरस के मामलों की पुष्टि हुई है। उधर, चीन में फैले कोरोना वायरस के मद्देनजर भारत सरकार वुहान प्रांत में फंसे भारतीय नागरिकों को निकालने की तैयारी कर रही है। इसके तहत दो विशेष विमानों को शुक्रवार को चीन रवाना किया जाएगा। भारत में केरल की एक छात्रा कोरोना वायरस पॉजीटिव मिली है। ये छात्रा चीन के वुहान में पढ़ती है। गुरुवार को पुणे स्थित भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की प्रयोगशाला में छात्रा का सैंपल पॉजीटिव आने के बाद हड़कंप मच गया। आईसीएमआर-एनआईवी की निदेशक डॉ. प्रिया अब्राहम ने बताया कि उनके यहां 49 सैंपल की जांच हो चुकी है। इनमें से केवल एक ही सैंपल केरल की छात्रा का पॉजीटिव मिला है। वह चीन के वुहान में पढ़ रही थी।

See More

Latest Photos