बंग्लादेशियों की पहचान करने में हिन्दू क्यों दें प्रमाण

Total Views : 655
Zoom In Zoom Out Read Later Print

हरिद्वार, (परिवर्तन)। अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि मैं तो साथियों के संग निकला था हरिद्वार जाने को, लेकिन मेरे साथी दिल्ली की मायानगरी में फंसकर रास्ता भटक गए जबकि वह आज भी अपने रास्ते पर कायम है। यह उदगार उन्होंने शनिवार को आदर्श नगर स्थित हरिद्वार जिला महामंत्री उमेश प्रधान के कैम्प/आवास पर आयोजित एक प्रेसवार्ता में व्यक्त किये।

डॉ. तोगड़िया ने कहा कि भारत में राम मंदिर तो बनने जा रहा है लेकिन राम राज कहीं भी नजर नहीं आ रहा। उन्होंने कहा कि जब किसान कर्ज मुक्त नहीं, रोजगार नहीं, महंगाई से गृहणी त्रस्त हैं, महिलाओं की सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं है और जब देश में इतनी समस्याएं मौजूद हैं तो फिर रामराज्य कहा है? उन्होंने कहा कि जब राममंदिर निर्माण के लिये आंदोलन शुरू हुआ था तो युगों-युगों से लोगों को उम्मीद जगी थी कि राम मंदिर निर्माण के साथ ही देश में रामराज्य भी स्थापित होगा, लेकिन रामराज्य के नाम पर आज भी केंद्र सरकार लोगों को ठगने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जो सीएए (सिटीजनशिप अमेंडमेंट एक्ट) और एनआरसी (नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन) पारित किया है। उसके आधार पर बांग्लादेशी लोगों की पहचान कर उन्हें उनके मुल्क भेजा जाए और यदि उनकी सरकार उन्हें लेने से इनकार करती है तो उन्हें बांग्लादेश के एक हिस्से पर कब्जा कर उन्हें बसाने का काम करे, लेकिन बांग्लादेश के लोगों की पहचान के लिए हिन्दुओं से प्रमाण-पत्र मांगा, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के हिन्दुओं को बसाने का काम कर रही है, यह अच्छी बात है लेकिन जम्मू कश्मीर के हिन्दुओं को बसाने के लिए भी केंद्र सरकार उचित कदम उठाये। तभी जाकर हिन्दुओं को उनका हक मिलेगा। इस दौरान रुड़की पहुंचने पर डॉ. प्रवीण तोगड़िया का कार्यकर्ताओं ने फूल-मालाओं से जोरदार स्वागत किया और जय श्रीराम के नारे लगाए गए। इस मौके पर अंकित चौधरी, अमित कुमार, प्रदीप, अंकुश पंडित, संजय बजरंगी, अरविंद पांडेय, मोहित चौधरी, प्रीतम देशभक्त, विपिन कौशिक, फूल सिंह प्रधान, पिंटू शर्मा, अरविंद चमोली, मनोज चैधरी, नरेश धीमान, रविन्द्र सैनी, पवन देव सैनी, कुंवर सिंह सैनी आदि मौजूद रहे।

See More

Latest Photos