घाटी के हालात पर शाह और डोभाल ने की उच्चस्तरीय बैठक

Total Views : 110
Zoom In Zoom Out Read Later Print

नई दिल्ली, (परिवर्तन)। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद घाटी में मौजूदा हालात की समीक्षा के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने गृह सचिव राजीव गाबा समेत खुफिया एजेंसियों के आला अधिकारियों के साथ यहां एक अहम बैठक की।

सूत्रों के मुताबिक, बैठक में जम्मू कश्मीर के मौजूदा हालात पर चर्चा के साथ ही आम नागरिकों की रोजमर्रा की जरूरतों और उनको किसी तरह की परेशानी न हो, इसका ख्याल रखते हुए सुरक्षा बलों और खुफिया एजेंसियों को सतर्क रहने को कहा गया है। इसके साथ ही घाटी में माहौल बिगाड़ने के लिए अफवाह उड़ाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का भी निर्देश दिया गया है। सूत्र बताते हैं कि सुरक्षा एजेंसियों से कहा गया है कि वे अफवाह उड़ाने वालों से सख्ती से निपटने के साथ ही उसकी वास्तविकता को भी जल्द से जल्द उजागर करें, ताकि आम कश्मीरी किसी भ्रम जाल में न फंस पाए। बैठक में आम नागरिकों की रोजमर्रा की जरुरतों के सामान, एटीएम में नकदी की उपलब्धता, जरुरी वस्तुओं की पर्याप्त उपलब्धता पर भी जोर दिया गया है। इस उच्चस्तरीय बैठक में सुरक्षा एजेंसियों और खुफिया विभाग के आला अधिकारियों ने घाटी से मिली रिपोर्ट भी पेश की। रिपोर्ट के आधार पर वहां के हालात की समीक्षा की गई और आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए गए। बताया जा रहा कि इस बैठक में जम्मू कश्मीर में लागू कर्फ्यू में दी गई ढील के बाद के हालात पर भी चर्चा की गई। सोमवार से घाटी में जहां संचार व्यवस्था पर लगी रोक को हटाया गया है, वहीं स्कूल भी खोले गए। सूत्रों की मानें तो सरकार हालात की समीक्षा के बाद से अगले कुछ दिनों में सभी पाबंदियों को हटाने पर विचार कर रही है। साथ ही सुरक्षा बलों को पाकिस्तान की ओर से होने वाली घुसपैठ और सीजफायर की घटनाओं का मुहंतोड़ जवाब देने को कहा गया है।

See More

Latest Photos