अजीत डोभाल ने दी सुरक्षाबलों के लिए 300 सैटेलाइट फोन की मंजूरी

Total Views : 77
Zoom In Zoom Out Read Later Print

जम्मू, (परिवर्तन)। जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 के समाप्त होने के बाद पड़े पहले शुक्रवार को गड़बड़ी की आशंका के मद्देनजर प्रशासन ने तगड़े इंतजाम किए हैं। जम्मू-कश्मीर और करगिल में धारा 144 लागू है। स्कूल और कॉलेज बंद हैं। कश्मीर और जम्मू में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबल तैनात है।

डोडा, किश्तवाड़, बनिहाल और रामबन में कर्फ्यू जारी है। सुरक्षाबलों की 40 कम्पनियां जम्मू संभाग के जम्मू, डोडा, उधमपुर, रामबन, किश्तवाड़, राजौरी तथा पुंछ जिलों में तैनात हैं। हालात को सामान्य रखने के मद्देनजर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल कश्मीर घाटी में हैं। इस बीच डोभाल ने कश्मीर घाटी में तैनात सुरक्षाबलों को 300 सैटेलाइट फोन मुहैया करवाने की मंजूरी दी है ताकि वह अपने परिवार से संपर्क कर सकें। पहले जुमा की वजह से सड़कों पर लोहे के कंटीले तार लगाकर लोगों की आवाजाही को रोका गया है। मगर कुझ जगहों पर लोगों को नमाज अदा करने की अनुमति दी गई है। हिंसक प्रदर्शन की आशंका के चलते सुरक्षाबलों को अलर्ट पर रखा गया है। घाटी में इक्का-दुक्का दुकानें खुली हैं। इक्का-दुक्का रेहड़ी फड़ी वाले भी नजर आ रहे हैं। सड़कों पर पहले की अपक्षा निजी वाहन कम नजर आ रहे हैं। अनुच्छेद 370 समाप्त होने और जम्मू-कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाने के बाद से शांति भंग की आशंका के मद्देनजर अब तक 500 से भी ज्यादा लोगों को पुलिस हिरासत में ले चुकी है। जम्मू में पांचवें दिन भी धारा 144 लागू है। जम्मू के हर गली कूचे में बड़ी संख्या में सुरक्षाबल तैनात हैं। प्रशासन ने लोगों को आगाह किया है कि वह अपनी दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान दोपहर तीन बजे से रात आठ बजे तक खोलें। इसके बावजूद जम्मू में सुबह से दुकानें और अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठान खुले नजर आए। सड़कों पर ट्रैफिक सामान्य है। उधमपुर, कठुआ और सांबा जिले में सभी शिक्षण संस्थानों को शुक्रवार से खोल दिया गया है। यहां जनजीवन तेजी से सामान्य हो रहा है। सुरक्षाबलों ने जम्मू की सड़कों से कंटीले तार हटा लिए हैं। इसके बावजूद जम्मू में मोबाइल इंटरनेट सेवा को बहाल नहीं किया गया है।  जम्मू संभाग के राजौरी, पुंछ, डोडा और किश्तवाड़ में मोबाइल के साथ मोबाइल इंटरनेट सेवा को रविवार रात बंद कर दिया गया था। श्रीनगर में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए मोबाइल, इंटरनेट और ब्राडबैंड सेवा को फिलहाल बंद रखा गया है। राज्य के कुछ हिस्सों में अभी भी शिक्षण संस्थानों को अगले आदेश तक बंद रखने का आदेश दिया गया है। लेह-लद्दाख में जनजीवन आम दिनों की तरह सामान्य है।स्कूल और कॉलेज खुले हैं।  कारगिल में तनाव की स्थिति के चलते धारा 144 लागू है। स्कूल व कालेज बंद हैं।

See More

Latest Photos